कांग्रेस जनाआक्रोश रैली: सरकार आयी, तो हर घर में नौकरी, नहीं तो मिलेगा बेरोजगारी भत्ता - बेरोजगारी भत्ता

Monday, 11 November 2019

कांग्रेस जनाआक्रोश रैली: सरकार आयी, तो हर घर में नौकरी, नहीं तो मिलेगा बेरोजगारी भत्ता

रांची : कांग्रेस की सरकार आयी, तो हर घर में एक नौकरी मिलेगी. अगर नौकरी नहीं दे सके, तो बेरोजगारी भत्ता मिलेगा. मंच से कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह ने यह बात कही.  इस मंच से कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव ने भी एक - एक कर गिनाया की सरकार आयी तो क्या - क्या करेंगे. उन्होंने कहा, किसानों का कर्ज माफ करेंगे, जो जमीन छिन ली गयी है और पांच सालों तक कोई काम नहीं हुआ उसे किसानों को वापस करेंगे. छात्रों का स्टाइपेंड शुरू करेंगे, अभी बंद है. बेरोजगारों की फौज खड़ी हो गयी है, सरकारी नौकरी में खाली पद भरेंगे.

रैली में खूंटी, लोहरदगा, हटिया, खिजरी, मांडर सहित कई जगहों से कांग्रेस कार्यकर्ता पहुंचे. सभी नेता, कांग्रेस प्रतिनिधि अपने समर्थकों के साथ पहुंचे समर्थकों ने जमकर नारेबाजी की और अपने नेता के लिए प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह और प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव से सीट की मांग भी कर दी.  कांग्रेस के वरिष्ठ नेता चंद्रशेखर दुबे ने भी कार्यकर्ताओं में उत्साह भरा लेकिन मंच से नाराजगी भी जता दी. 

उन्होंने कहा कि हमारी इच्छा है कि प्रदेश प्रभारी और प्रदेश अध्यक्ष वरिष्ठ नेताओं को बुलाकर बात करेंगे फिर आगे की रणनीति तय होगी . उनसे आग्रह है कि एक बार बैठकर चर्चा कर लें.  सभी प्रमुख नेताओं ने इस रैली में कांग्रेस कार्यकर्ताओं को उत्साहित किया और विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को वोट देने की अपील की. कांग्रेस नेताओं ने कार्यकर्ताओं से यह भी कहा कि अपने गांव जाकर बतायें कि कांग्रेस आपके साथ खड़ी है. 

हर घर नौकरी नहीं तो बेरोजगारी भत्ता - आरपीएन सिंह 
 
मंच से कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह ने कहा, हमें जानकारी मिली थी कि रैली होगी पर यह तो रैला है, दिवानों का मेला है. आपके ही बल पर कांग्रेस मजबूत है. रांची में कोयला ही कोयला है, रोजना रघुवर सरकार वादा करते हैं 24 घंटे बिजली मिलेगी अबतक उन्होंने अपना वादा पूरा नहीं किया. यह हमारी पांचवीं प्रमडलीय रैली है. जो उत्साह हमें दिखा है उससे  साफ है कि हमारी सरकार बनेगी.
 
भ्रष्टाचार की बात भाजपा करती है. इस सरकार पर कंबल चोरी, अनाज, डैम घोटाला जैसे कई आरोप लगे. हजारों लोगों की नौकरी गयी. मां बाप अपना पेट काटकर बच्चों के शिक्षित करते हैं. हम हर घर में एक नौकरी की बात करते है. जहां नौकरी नहीं वहां भत्ता मिलेगा. ना बिजली है ना नौकरी है फिर आशीर्वाद कैसा. 

रामेश्वर उरांव ने बताया कांग्रेस की सरकार आयी तो क्या करेंगे
 
रैली को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष ने कहा, कुछ पत्रकार साथी सवाल कर रहे हैं  कैसा आक्रोश ? आक्रोश टूटी सड़क का. बिजली, पानी नहीं  होने का. आक्रोश, किसानों को अनाज की सही कीमत नहीं मिलने का. एमएसपी तय करने के बाद भी सरकार खरीद करनी करती. झारखंड में 28 फीसद आदिवासी हैं. झारखड में सीएनटी - एसपीटी खत्म कर जमीन छिनना चाहती है.
 
साथियो, सरकार विफल रही है हर मायने में हर क्षेत्र में. हमारी सरकार आयी को हम कर्ज माफ करेंगे- जमीन वापस करेंगे. सरकार अगर पांच साल तक आपकी जमीन का उपयोग नहीं करती, कंपनी नहीं करती तो हम गरीबों की जमीन वापस करेंगे. छात्रों का स्टेफन शुरू करेंगे , अभी बंद है. बेरोजगारों की फौज है, सरकारी नौकरी भरेंगे, घूसखोरी रोकेंगे. हमें सत्ता में लायें.
 
आलमगीर आलम -  झारखंड के कोने कोने में घूमकर सरकार ने किसानों की आय दोगुणी करने की बात कही थी.  पारा शिक्षकों से  सरकार ने वादा किया था. सरकार ने पारा शिक्षकों पर लाठी चार्ज किया.  आंगनबाड़ी महिलाओं पर डंडा चला.  कांग्रेस की सरकार आयी तो आंगनबाड़ी, पारा शिक्षकों के लिए काम करेंगे. 
 
सुबोघकांत- हटिया . भाजपा ने लंबे वक्त तक शासन किया है. राज्य बहुत सारी चीजों में पीछे. यह अकेला राज्य है जहां तीन दर्जन लोग भूख से मर गये, मॉब लिचिंग की शुरूआत यही से हुई. गरीब किसानों ने आत्महत्या की. स्कूलों को बंद करा दिया गया. यह अकेला राज्य है. सीएनटी कानून को खत्म करने की कोशिश हुई . राज्य परिवर्तन चाहता है.
 
चंद्रशेखर दुबे- क्या कहूं, क्या नहीं समझ नहीं आता. मेरी लाचारी निजी है. मैं आपसे कुछ नहीं कहूंगा लेकिन इतना कह सकता हूं . मोदी को वोट देकर जनता पछता रही है. कांग्रेस को लोग उत्साहित होकर वोट कर रहे हैं. प्रभारी जी, अध्यक्ष जी हमें बुलाकर बात कर लें. एक बार आप हमारी बात भी जरूर सुनेंगे.
 
गीतो कोड़ा - विगत पांच सालों में जो स्थिति राज्य की है, शायद ही वैसी स्थिति कभी रही हो. आज लोग भूखे है, किसान आत्महत्या कर रहे हैं. ऐसे में रघुवर दास आशीर्वाद मांग रहे हैं. 
 
धीरज प्रसाद साहू- जब से झारखंड बना है, अधिकतर घोटाला   भाजपा के राज में ही हुआ है. जिस तरह रघुवर सरकार चल रही है आपको पता है यह गुमराह कर रही है. नौजवान रोजी रोटी की तलाश में पलायन कर रहे हैं. राज्य कंगाली की तरफ बढ़ रहा है. विकास सिर्फ पोस्टर बैनर में नजर आ रहा है. 

अजय नाथ शाहदेव-  जनआक्रोश रैली में आपका आक्रोश पूरे राज्य की जनता देख रही है. रघुवर सरकार ने गांव की जमीन बड़े व्यापारियों को दे दी. गांव के जतरा की जमीन पर कब्जा कर लिया गया . रघुवर सरकार को उखाड़ फेंकना है.  मुझे टिकट मिले या ना मिले मैं जनता की सेवा करका रहूंगा
 
विक्सल कोंगाड़ी -  मैं अनुसूचित क्षेत्र से आता हूं, तो उसी विषय पर बात करूंगा. भाजपा धर्म के नाम पर आदिवासियों को बांटना चाह रही है. सरकार संविधान के खिलाफ काम कर रही है. सरकार षड़यंत्र रच रही है. सरकार अनुसूचित क्षेत्र को खत्म करना चाहती है.
 
आदित्य विक्रम जयसवाल- समय बदला का नहीं, बदलाव का है. गांधी जी ने सत्याग्रह की शुरूआत की थी. भाजपा की सरकार को सत्याग्रह करके उखाड़ फेंकने का वक्क है. किसान को पैसा नहीं, रोजगार नहीं लेकिन भाजपा सरकार को चिंता नहीं.

No comments:

Post a Comment